Conversation 88 | Conversation between Three college students (तीन कॉलेज छात्रों के बीच में बातचीत)

Conversation 88 | Conversation between Three college students (तीन कॉलेज छात्रों के बीच में बातचीत)…
100 English Conversations eBook – DOWNLOAD NOW {यहाँ क्लिक करें}

Spoken English Guru English Speaking Course Kit

राघव: अरे विजय! एक सेकंड के लिए यहाँ आओ।
Raghav: Hey Vijay! Come here for a second. (हे विजय! कम हियर फॉर अ सेकंड।)

विजय: हाय राघव! हैलो नीलेश! तुम लोग यहाँ क्या कर रहे हो?
Vijay: Hi Raghav! Hello Nilesh!  What are you guys doing here? (हाय राघव! हैलो नीलेश! वट आर यू गाइज़ डूइंग हियर?)

नीलेश: हमारे बीच यहाँ एक बहस चल रही है।
Nilesh: We are having sort of an argument here. (वी आर हैविंग सॉर्ट ऑफ एन आर्गुमेंट हियर।)

विजय: बहस?
Vijay: Argument? (आर्गुमेंट?)

राघव: हाँ। नीलेश को लगता है कि हमारा कॉलेज सुरक्षित है और नई रैगिंग विरोधी नीति पेश किए जाने के बाद बदमाशी के कोई नए मामले नहीं हैं।
Raghav: Yes. Nilesh thinks that our college is safe and there are no new cases of bullying after the new anti-ragging policy was introduced. (यस। नीलेश थिंक्स दैट आर कॉलेज इज़ सेफ एंड देयर आर नो न्यू केसेज़ ऑफ बुलीइंग आफ्टर द न्यू एंटी-रैगिंग पॉलिसी वॉज़ इंट्रड्यूस्ड।)

नीलेश: हाँ! और राघव मुझसे असहमत है। वह कहता है कि अभी भी बहुत सारे स्टूडेंट्स हैं जो चुपचाप पीड़ित हो रहे हैं। इसका मानना ​​है कि अभी भी कुछ स्टूडेंट्स को परेशान किया जा रहा है, लेकिन वे मामले सामने नहीं आए हैं, क्योंकि वे स्टूडेंट्स उनकी रिपोर्ट नहीं करना चाहते हैं।
Nilesh: Yea! And Raghav disagrees with me. He says that there are still a lot of students who are suffering silently. He believes that some students are still getting bullied but those cases don’t come out because those students choose not to report them. (या! एंड राघव डिसअग्रीज़ विद मी। ही सैज़ दैट देयर आर स्टिल अ लॉट ऑफ स्टूडेंट्स हू आर सफरिंग सायलेंटली। ही बिलीव्स दैट सम स्टूडेंट्स आर स्टिल गेटिंग बुलीड बट दोज़ केसेज़ डोंट कम आउट बिकॉज़ दोज़ स्टूडेंट्स चूज़ नॉट टु रिपोर्ट दैम।)

राघव: यही वजह है कि मैंने तुम्हें यहाँ बुलाया। हमें इस पर तुम्हारी राय चाहिए। तुम क्या सोचते हो?
Raghav: That is the reason why I called you here. We need your opinion on it. What do you think? (दैट इज़ द रीज़न वाय आय कॉल्ड यू हियर। वी नीड यौर ओपिनियन ऑन इट। वट डु यू थिंक?)

विजय: अरे मैं तुम दोनों के बीच में नहीं आना चाहता। मुझे लगता है कि तुम्हें इसे अपने दम पर क्लियर करना चाहिए।
Vijay: Hey I don’t want to get in between you. I think you should clear it on your own. (हे, आय डोंट वॉन्ट टु गैट इन बिटवीन यू। आय थिंक यू शुड क्लियर इट ऑन यौर ओन।)

राघव: यह सही नहीं है दोस्त ! हमें इस पर तुम्हारी राय चाहिए। अगर ऐसा हुआ कि तुम कुछ जानते हो जो हम नहीं जानते तो तुम्हारी राय हमें किसी नतीजे पर पहुँचने में मदद कर सकती है।
Raghav: It’s not fair mate! We need your opinion on it. If you know something that we don’t, your opinion might help us reach a conclusion. (इट्स नॉट फेयर मेट! वी नीड यौर ओपिनियन ऑन इट। इफ यू नो समथिंग दैट वी डोंट, यौर ओपिनियन माइट हैल्प अस रीच अ कन्क्लूश़न।)

नीलेश: हाँ! हमारी मदद करो!
Nilesh: Yeah! Help us! (या! हैल्प अस!)

विजय: ठीक है! मैं सभी छात्रों के बारे में नहीं जानता, लेकिन मुझे लगता है कि अभी भी कुछ लोग हैं जो पीड़ित हैं। मिसाल के तौर पर, उन लड़कियों को ले लो, जो हर बार मस्ती मज़ाक के नाम पर कैटकॉल की जाती हैं। इसके अलावा, उन जूनियर्स के बारे में सोचो, जो अपने सीनियर्स द्वारा फैस्ट के दौरान या इस तरह के किसी भी कार्यक्रम में मुश्किल मुश्किल काम करने को मजबूर किये जाते हैं। ये चीजें आसानी से अन-नोटिस हो जाती हैं, लेकिन ये एक तरह से रैगिंग या बदमाशी के ही तरीके हैं।
Vijay: Okay! I don’t know about all of the students but I feel, there are still a few who suffer. Take for example, the girls who get catcalled every now and then in the name of fun. Also think about the juniors who are manipulated by their seniors in doing all the laborious tasks during fest or any such event. These things easily get un-noticed but they are also subtle ways of ragging or bullying. (ओके! आय डोंट नो अबाउट ऑल ऑफ द स्टूडेंट्स बट आय फ़ील, देयर आर स्टिल अ फ्यू हू सफर। टेक फॉर इग्ज़ैम्पल, द गर्ल्स हू गैट कैटकॉल्ड एव्री नॉव एंड दैन इन द नेम ऑफ फ़न। ऑल्सो थिंक अबाउट द जूनियर्स हू आर मैनिपुलेटेड बाय देयर सीनियर्स इन डूइंग ऑल द लैबोरियस टास्क्स ड्यूरिंग फैस्ट और एनी सच इवेंट। दीज़ थिंग्स इज़िली गैट अन-नोटिस्ड बट दे आर ऑल्सो सटल वेज़ ऑफ रैगिंग और बुलिंग।)

राघव: देखा! यही मैं भी कहने की कोशिश कर रहा था!
Raghav: See! That’s exactly what I was trying to say! (सी! दैट्स इग्ज़ैक्ट्ली वट आय वॉज़ ट्राइंग टु से!)

नीलेश: हाँ, अब मैं तुम्हारी बात समझ गया हूँ। तुम सही थे। धन्यवाद, विजय तुम्हारी अंतर्दृष्टि के लिए!
Nilesh: Yes, now I get your point. You were right. Thanks Vijay for your insight! (यस, नाव आय गैट यौर पॉइंट। यू वर राइट। थैंक्स विजय फॉर यौर इनसाइट!)

राघव: हाँ! धन्यवाद, विजय! तुम्हारी राय बहुत महत्वपूर्ण थी। अब जब हम इस समस्या को जान गए हैं तो हम शायद कॉलेज प्राधिकरण की मदद से इसके लिए कोई समाधान भी निकाल सकें।
Raghav: Yes! Thanks, Vijay! Your opinion was very crucial. Now that we know the problem, we might even be able to find a solution for it with the help of the college authority. (यस! थैंक्स, विजय! यौर ओपिनियन वॉज़ वैरी क्रूशल। नाव दैट वी नो द प्रॉब्लम, वी माइट ईवन बी एबल टु फाइंड अ सल्यूशन फॉर इट विद द हैल्प ऑफ द कॉलेज अथॉरिटी।)

विजय: मैंने सिर्फ वही कहा है जो मैंने देखा है। लेकिन तुम सही हो। हमें इसके बारे में कुछ करना चाहिए।
Vijay: I just said what I have observed. But you’re right. We should do something about it. (आय जस्ट सैड वट आय हैव ऑबज़र्व्ड। बट यौर राइट। वी शुड डू समथिंग अबाउट इट।)

नीलेश: ठीक है! चलो हम कल एंटी-रैगिंग सेल के प्रमुख से मिलें और उनसे इस बारे में बात करें।
Nilesh: Okay! Let’s go and meet the head of the anti-ragging cell tomorrow and talk to him about it. (ओके! लैट्स गो एंड मीट द हैड ऑफ दि एंटी-रैगिंग सैल टुमॉरो एंड टॉक टु हिम अबाउट इट।)

राघव और विजय: चलो करते हैं!
Raghav and Vijay: Let’s do it! (लैट्स डू इट!)

IMPORTANT LINKS

Complete English Speaking Course: CLICK HERE
Books & eBooks: CLICK HERE
Lesson-wise YouTube Videos: CLICK HERE
YouTube: CLICK HERE
Facebook: CLICK HERE
Instagram: CLICK HERE
Android App: CLICK HERE
Blogging Course:
CLICK HERE
Computer Course:
CLICK HERE

TRENDING BLOGS
TENSES | VERBS | CONVERSATIONS | TRANSLATIONS | PRACTICE EXERCISES | PREPOSITIONS | DAILY USE SENTENCESVOCABULARY | PRONUNCIATION | PHRASAL VERBS | TIPS n TRICKS | INTERVIEW Q&A | PUNCTUATION MARKS | ACTIVE PASSIVE | DIRECT INDIRECT | PARTS OF SPEECH | SPEAKING PRACTICE | LISTENING PRACTICE | WRITING PRACTICE | ESSAYS | SPEECHES

अगर आपको ये आर्टिकल पसन्द आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ WhatsApp, Facebook आदि पर शेयर जरूर करिएगा। Thank you! – Aditya sir

 

 

1 thought on “Conversation 88 | Conversation between Three college students (तीन कॉलेज छात्रों के बीच में बातचीत)”

  1. Thnaks for providing such precious conversations which were very difficult to me but now it is very helpful…these raise my confidence…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *