4 Tips to learn English Speaking

Learn English Speaking (अंग्रेज़ी बोलना सीखने की 4 आसान टिप्स)

Learn English Speaking…

When I see people expressing their frustration for not being able to learn English; I am really hurt.  It’s because I’ve also gone through this sort of frustration in my life. Today I want to share with you the 4 EASY TIPS to learn English Speaking
जब मैं लोगों को अंग्रेजी सीखने में सक्षम (काबिल,समर्थ) नहीं होने के कारण अपनी निराशा व्यक्त करते हुए देखता हूं; तो वास्तव में मैं आहत हो जाता हूं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मैं भी अपने जीवन में इस तरह की निराशा से गुजरा हूं। आज मैं आपके साथ इंग्लिश बोलना सीखने के लिए 4 आसान (इजी) टिप्स आपके साथ साझा करना चाहता हूं।

Have you ever noticed???? Many of us dream to learn English, but 99% of us fail to succeed. Why???? Many of us join a gym but leave it just in a few days, why? Many of us join a guitar class but leave it too, why?
क्या आपने कभी ध्यान दिया है???? हम में से बहुत से लोग इंग्लिश सीखने का सपना देखते हैं, लेकिन हम में से 99% लोग सफल नहीं हो पाते हैं। क्यों ???? हम में से कई जिम ज्वाइन करते हैं लेकिन इसे कुछ दिनों में ही छोड़ देते हैं, क्यों? हम में से बहुत से लोग गिटार क्लास ज्वाइन करते हैं लेकिन इसे भी छोड़
देते हैं, क्यों?

Learn English Speaking…

What’s wrong? Why can’t we continue? The answer is: We don’t have patience. We can’t keep working hard for a long. We get excited for a while, but are reluctant to put in efforts. 
क्या गलती हो रही है? हम सीखना क्यों जारी नहीं रख पाते? जवाब है: हमारे पास धैर्य (पेशेंस) नहीं है। हम लंबे समय तक कड़ी मेहनत नहीं कर सकते। हम थोड़ी देर के लिए उत्साहित हो जाते हैं, लेकिन फिर बाद में और अधिक प्रयास करने की इच्छा नहीं होती है।

Whereas, the fact is; things do take time to shape up, after all great achievement needs huge sacrifice and efforts.
जबकि, तथ्य यह है कि; चीजों को आकार लेने में समय लगता है, आख़िरकार सभी बड़ी उपलब्धियों के लिए बड़े बलिदान और बड़े प्रयासों की आवश्यकता होती है।

You need to decide whether you want to make your dreams come true, or you just want to let it be your dreams forever??
आपको यह तय करने की जरुरत है कि क्या आप अपने सपनों को साकार करना चाहते हैं, या आप इसे हमेशा के लिए एक सपना ही रहने देना चाहते हैं ??

THESE ARE THE 4 EASY TIPS TO LEARN ENGLISH SPEAKING AT HOME (घर पर ही इंग्लिश स्पीकिंग सीखने के ये 4 आसान टिप्स हैं ) –

First, you shouldn’t be afraid of how people will react. If they laugh, let them laugh. To laugh is good for their health. You are lucky to have someone laugh. When you’ll have learned English, these very people will claim to be your best friends, they will admire you for what you have done. So, just ignore their repugnant reactions for now.
सबसे पहले, आपको डर नहीं होना चाहिए कि लोग कैसी प्रतिक्रिया देंगे। यदि वे हँसते हैं, तो उन्हें हँसने दें। हंसना उनके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। आप भाग्यशाली हैं कि आपकी वजह से किसी को हंसी आती है। जब आप इंग्लिश सीख लेगें, तो इनमें से बहुत से लोग आपके सबसे अच्छे दोस्त होने का दावा करेंगे, वे आपके द्वारा किए गए इस कार्य के लिए आपकी प्रशंसा करेंगे। तो, बस अब से उनके निगेटिव प्रतिक्रियाओं (रिएक्शन) की अनदेखी करें।

Learn English Speaking…

Equally important that you never blame your surroundings. For winners, Hindi medium schooling, busy schedule at work or responsibilities at home, etc. are nothing but excuses. Instead of blaming our situation, we shall rather put efforts and always be thankful to God for what we have been blessed with.
समान रुप से यह भी उतना ही महत्वपूर्ण है कि आप अपने परिवेश को कभी दोष न दें। विनर्स (सकारात्मक सोच वालों) के अनुसार, हिंदी मीडियम से स्कूलिंग, वर्कप्लेस (कार्यस्थल) पर बिज़ी शिड्यूल (व्यस्त कार्यक्रम) या घर की जिम्मेदारियाँ आदि कुछ नहीं बल्कि बहाने हैं। अपनी स्थिति को दोष देने के बजाय, हमें प्रयास करना चाहिए और जो कुछ हमारे पास है उसके लिए हमेशा ईश्वर का शुक्रगुजार होना चाहिए।

Moreover, don’t be afraid of making mistakes. How will someone correct you if you don’t even speak and make mistakes! (इसके अलावा, गलतियाँ करने से कभी न डरें। अगर आप बोलेंगे ही नहीं तो आपकी गलतियों को कोई कैसे ठीक करेगा!)

Besides learning English Grammar, which is undoubtedly important to become expert in making sentences correctly; You need to also practice the following 5 core skills: (सेंटेंस बनाने में निपुण (एक्सपर्ट) होने के लिए आपको ग्रामर सीखने के अलावा, 5 निम्नलिखित मुख्य स्किल्स की भी प्रैक्टिस करना महत्वपूर्ण हैः)

LISTENING (सुनना) –

You can listen to English songs; initially with subtitles and then later without it. English Podcasts, English news are great ways to improve listeningYou can also check out listening practice videos available on YouTube channel “Spoken English Guru”. Check out the lesson here: CLICK HERE
आप इंग्लिश गाने सुन सकते हैं; शुरुआत में सबटाइटल्स के साथ और फिर बाद में इसके बिना। इंग्लिश पॉडकास्ट, इंग्लिश न्यूज लिसनिंग को इम्प्रूव करने के शानदार तरीके हैं। आप YouTube चैनल “स्पोकन इंग्लिश गुरु” पर उपलब्ध प्रैक्टिस वीडियोज़ को भी देख सकते हैं। लेसन यहां चेक आउट करें: यहाँ क्लिक करें

READING (पढना) – 

As well as, you must read newspapers or book or anything at all for at least 15-20 minutes a day and underline just 2-5 words a day that you didn’t know about. Look them up in dictionary and make a note. Keep thinking about these words throughout the day, irrespective of where you are and what you are doing.
साथ ही, आपको एक दिन में कम से कम 15-20 मिनट के लिए न्यूज़पेपर या बुक या कुछ भी पढ़ना चाहिए और एक दिन में केवल 2-5 वर्डस को अंडरलाइन करना चाहिए जिसके बारे में आपको पता नहीं था। उन्हें डिक्शनरी में देखिए और एक नोट बनाइए। दिन भर इन वर्डस के बारे में सोचते रहें चाहे आप कहीं भी हों और कुछ भी कर रहे हों । 

Next day, when you read the newspaper, you are likely to encounter the same words again and trust me, this time you are going to feel more comfortable than before. Keep doing it for months. It’s going to make wonders to your English.
अगले दिन, जब आप न्यूजपेपर पढ़ते हैं, तो आप फिर से उन्हीं वर्डस का सामना कर सकते हैं और मुझ पर भरोसा करें, इस बार आप पहले से अधिक सहज महसूस करने वाले हैं। इसे महीनों तक करते रहें। यह आपकी इंग्लिश में चमत्कार करेगा।

WRITING (लिखना)– 

In addition to the above two, You must also have a routine for writing practice every day. How and what to write? Just check out my channel’s video lessons here: CLICK HERE
ऊपर के दो के अलावा, आपका राइटिंग प्रैक्टिस के लिए भी हर दिन का एक रुटीन होना चाहिए। कैसे और क्या लिखना है? इसके लिए बस यहाँ मेरे चैनल के वीडियो लेसन में देखें: यहाँ क्लिक करें

 SPEAKING (बोलना)–

Hesitation is the biggest problem in our life because there are more people to criticize us than to support. Now, you have a choice: Either you just don’t care about such people or you simply give up. Your decision today will determine your tomorrow. If you ask me what to do, my answer is simple: you need to promise yourself to speak in English with everyone around you throughout the day, without even thinking that one might laugh at you.
संकोच / झिझक हमारे हमारे जीवन में सबसे बड़ी समस्या है, क्योंकि हमें सपोर्ट करने की तुलना में हमारी आलोचना करने वाले लोग ज्यादा होते हैं। अब आपके पास एक विकल्प है: या तो आप ऐसे लोगों की परवाह न करें या आप हार मान लें। आपका आज का निर्णय आपके कल को निर्धारित करेगा। यदि आप मुझसे पूछते हैं कि मुझे क्या करना चाहिए, तो मेरा जवाब सरल है: आपको दिन भर अपने आप से इंग्लिश में बोलने का वादा करने की आवश्यकता है, बिना यह सोचे कि कोई व्यक्ति आप पर हंस सकता है। 

In fact, it doesn’t even matter whether you speak right or wrong; what matters is that you at least try to speak. Just do it for a month. I promise you, you’ll feel so comfortable that you would love to do it further on. You can use the mirror technique as well, in which you can talk to yourself and practice. You can also watch my speaking practice videos and do practice with me. Check out here: CLICK HERE
वास्तव में, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप सही बोलते हैं या गलत; मायने ये रखता है कि आप कम से कम बोलने की कोशिश तो करें। बस एक महीने के लिए ये करें। मैं आपसे वादा करता हूं, आप इतना सहज महसूस करेंगे कि आप इसे आगे भी करना पसंद करेंगे। आप मिरर टेक्निक का उपयोग कर सकते हैं, जिसमें आप खुद से बात कर सकते हैं और प्रैक्टिस कर सकते हैं। आप मेरे स्पीकिंग प्रैक्टिस वीडियोज़ को भी देख सकते हैं और मेरे साथ प्रैक्टिस कर सकते हैं। यहाँ क्लिक करें

WATCHING (देखना)– 

Further, besides above all, do watch English Movies and Serials every day for some time. Initially, you’d not understand most of what they say, but just keep watching it for a month or so. Patience is the key. Soon, you’d notice a significant improvement in understanding them.
इसके बाद, आप ऊपर लिखी बातों के अलावा, कुछ समय के लिए प्रतिदिन इंग्लिश मूवीज और सीरियल्स देखें। शुरुआत में, आप ज्यादातर बातों को समझ नहीं पाएंगे कि वे क्या कह रहे हैं, लेकिन बस एक या दो महीने तक इसे देखते रहें। धैर्य ही सब कुछ है। जल्द ही, आप खुद में उनकी बातों को समझने के प्रति बहुत फर्क महसूस करेंगे। 

MUST-READ (ज़रूर पढ़ें)

TENSES | VERBS | TRANSLATIONS | CONVERSATIONS | DAILY USE SENTENCESVOCABULARY | PRONUNCIATION | PHRASAL VERBS | TIPS n TRICKS | INTERVIEW Q&A | PUNCTUATION MARKS | ACTIVE PASSIVE | DIRECT INDIRECT | PARTS OF SPEECH | SPEAKING PRACTICE | LISTENING PRACTICE | WRITING PRACTICE | ESSAYS | SPEECHES

OTHER LINKS

eBooks (10M+)YouTube (4.2M+) | Android App (3.2M+) | Books (1.5M+) | Facebook (700K+) | Instagram (85K+) | Likee (3M+) | Tiktok (250K+) | MY BLOGGING COURSE

अगर आपको ये Article (Learn English Speaking with 4 Easy Tips) पसन्द आया हो, तो प्लीज़ इसे अपने दोस्तों के साथ WhatsApp, Facebook आदि पर शेयर जरूर करिएगा। आपके प्यार सहयोग के लिए बहुत-2 धन्यवाद। Thank you! – Aditya sir

7 thoughts on “Learn English Speaking (अंग्रेज़ी बोलना सीखने की 4 आसान टिप्स)”

  1. If you have a strong belief that your hard work होना चाहिए न सर, मुझे लगता है by mistake ‘r’ छुट गया है।

  2. Good evening sir, i have been working Uae last 8 months and i want to improve my English, so i watched your videos. i am really impress. i need 1 pen drive plz tell me how will i get …

  3. अंग्रेजी के क्षेत्र में क्रांति लाने वाले आदित्य राणा सर
    यह जरुर पढ़ें और हमें बताएं

  4. नमस्कार दोस्तों
    आज मैं बहुत खुश हूं
    अंग्रेजी के क्षेत्र में क्रांति लाने वाले आदित्य राणा सर
    यह जरुर पढ़ें और हमें बताएं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *